उत्तराखंड में कांग्रेस की ”लड़की हूं लड़ सकती हूं”, मुहिम नहीं चढ़ा परवान,भाजपा ने घेरा

0
87
उत्तराखंड

उत्तराखंड में कांग्रेस की ”लड़की हूं लड़ सकती हूं” का नारा आगे बढ़ता नहीं दिख रहा है। चुनाव के ऐन मौके पर कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची में मात्र 3 महिला को उम्मीदवार बनाना नारा के लिहाज से समझ से परे है। अब सत्ताधारी दल को अच्छा मौका मिल गया है। भाजपा का कहना है एक ओर कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, लड़की हूं लड़ सकती हूं का नारा दे रही है वहीं 40 के नाम पर 3 महिला को उम्मीदवार बनाना और महिला उत्थान की बात परवान नहीं चढ़ रहा है।

कांग्रेस से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तराखंड की पहले सूची में 6 महिलाओं को उम्मीदवार बनाया गया है। इस सूची के आधार पर भाजपा का मानना है कि पार्टी हमेशा से महिलाओं के उत्थान के लिए कार्य करती आई है और आगे भी करेगी। लेकिन कांग्रेस ने 40 फीसद का नारा देकर भी चुनावी मैदान में अपने ही मुहिम को कमजोर कर दी है। कांग्रेस अपने पहले सूची में कुल 53 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है। इस सूची में मात्र 3 महिला के नाम होने पर भाजपा को भी कांग्रेस को घेरने के लिए बड़ा मौका मिल गया है।

कांग्रेस अगर 40 फीसदी के फार्मूले से चलें तो 53 नामों में से कम से कम 21 टिकट महिलाओं को मिलने चाहिए। पार्टी ने 53 की सूची में जिन महिलाओं को टिकट दिया है, उनमें से मसूरी से गोदावरी थापली, भगवानपुर से ममता राकेश और रुद्रपुर से मीना शर्मा के नाम शामिल हैं। इस सूची में कांग्रेस की ओर से यहां जीत की संभावना वाले उम्मीदवारों को तरजीह देगी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने पार्टी की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कांग्रेस के महिला उत्थान और 40 फीसद टिकट देने के दावों को खोखला बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ओर से जारी उम्मीदवार की सूची में मात्र 3 महिला को मौका मिला है। महिला हित की बात करने वाले कांग्रेसी की सोच स्पष्ट हो गई है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस का ”लड़की हूं लड़ सकती हूं” का दावा उत्तराखंड पहुंचते ही फुस्स हो गया। कांग्रेस की अजीब स्थिति है एक तरफ महिलाओं को भागीदारी की बात करती है दूसरी तरफ उन्हें जगह नहीं देती है। कांग्रेस की प्राथमिकता में कभी भी प्रदेश की आधी आबादी को उनका अधिकार देना नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि अब तो कल तक उत्तराखंड हरदा संग का दावा करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी कांग्रेस की हार का अंदाज़ा हो गया है, तभी वह अभी से हार के कारण तलाशने लगे हैं। उनका कांग्रेस पार्टी के देश में बेहतर प्रदर्शन में नहीं होने की स्वीकारोक्ति तो यही बयां करती है। भाजपा को पूर्ण भरोसा है कि हरदा के यही मन की बात, उत्तराखंड के जन जन की बात होगी और प्रदेश में प्रचंड बहुमत से भाजपा सरकार की वापस आने वाली है