पंचायत चुनाव के बागियों पर एक्शन में 40 भाजपाई पदमुक्त, निष्कासन जल्द

0
37

हाल के पंचायत चुनाव में भाजपा बगावत से जूझ रहे पार्टी नेतृत्व ने अब सख्त रुख अपनाया है। जिला पंचायत सदस्य पदों पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों के खिलाफ मैदान में डटे 40 कार्यकर्ताओं को पार्टी ने तत्काल प्रभाव से पदमुक्त कर दिया है। अब शीघ्र ही छह साल के लिए इन्हें पार्टी से निष्कासित करने की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

भाजपा ने पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य पदों पर समर्थित प्रत्याशियों की घोषणा की तो ऐसे कई कार्यकर्ता नाराज हो गए, जो अर्से से चुनाव की तैयारियों में जुटे हुए थे। जिला स्तर पर इन्हें मनाने की कोशिशें हुई, मगर बड़ी संख्या में पार्टीजनों ने बगावती तेवर अपनाते हुए पार्टी समर्थित प्रत्याशियों के खिलाफ नामांकन पत्र दाखिल कर दिए।

हालांकि, पार्टी नेतृत्व मान रहा था कि वो इन बागियों को मनाने में कामयाब हो जायेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पार्टी नेतृत्व ने इसे गंभीरता से लेते हुए साफ किया कि यह अनुशासनहीनता है और इसे किसी भी दशा में सहन नहीं किया जाएगा।

इस कड़ी में पार्टी ने जिला स्तर पर गठित कमेटियों से रिपोर्ट मांगी, जिस पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र भंडारी के अनुसार “जिला पंचायत सदस्य पदों पर पार्टी समर्थित उम्मीदवारों के क्षेत्रों में नामांकन करने वाले 40 कार्यकर्ताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त मानते हुए इन्हें तत्काल प्रभाव से पदमुक्त कर दिया गया है। जल्द ही इनके निष्कासन की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।”

जिन कार्यकर्ताओं को पदमुक्त किया गया है, उनमें मंडल, जिला स्तर के भाजपा, महिला मोर्चा, युवा मोर्चा, पंचायत प्रकोष्ठ, सैनिक प्रकोष्ठ के पदाधिकारी शामिल हैं। इनमें नैनीताल से खीम सिंह, भवान सिंह, लाखन नेगी, कमल सिंह गौड़, रवि नयाल, हरेंद्र सिंह दरम्वाल, लोकेश बिष्ट, मोहन बिष्ट, सुनीता बिष्ट (नैनीताल), जगत मर्तोलिया,भुवन चंद्र पांडेय, हरीश सिंह, राजेद्र सिंह (पिथौरागढ़), कल्पना बोरा (अल्मोड़ा), मोहन सिंह रावत, सुनील दोसाद, महेश बगरी, नवीन परिहार, पुष्पा टाकुली, महेश गडिय़ा (बागेश्वर), सुशीला देवी, प्रमिला उनियाल, सचेंद्र सेमवाल, अनोर सिंह, मगनलाल, सिद्धार्थ राणा, उर्मिला पुंडीर, सरिता रौतेला, राजेश गुनसोला, नीलम बिष्ट, नरेंद्र रावत, नरेंद्र सिंह, ताजवीर खाती, भोला परमार (टिहरी), मीरा रतूड़ी, संजय गौड़ (पौड़ी), चैन सिंह तोमर, राजीव बहुगुणा (उत्तरकाशी), किशन सिंह नेगी, रजनीश शर्मा (देहरादून) शामिल हैं। बताया गया कि अन्य जिलों से भी सूची मिलने पर वहां भी इसी प्रकार की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।