अरविंद केजरीवाल की 300 यूनिट बिजली फ्री देने की घोषणा

0
199

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार दोपहर यहां आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य की जनता को 300 यूनिट बिजली फ्री देने के अलावा तीन बड़ी घोषणाएं कीं। उन्होंने अगली बार पार्टी के मुख्यमंत्री के चेहरे की घोषणा की जाएगी। साथ ही रोजगार पर वह अपना विजन रखेंगे।

उत्तराखंड के एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे केजरीवाल ने यहां एक होटल में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में भाजपा और कांग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने उत्तराखंड में विकास के दिल्ली मॉडल पर बात की। आप नेता ने कहा कि राज्य गठन से लेकर अब तक दोनों सरकारों ने उत्तराखंड को सत्ता का केंद्र बना दिया है। पांच साल के अब तक के कार्यकाल में तीन बार मुख्यमंत्री बदले गए। कांग्रेस एक महीने से विपक्ष का नेता ही नहीं चुन पा रही है। प्रदेश के पर्वतीय जिलों में स्थिति बहुत ही दयनीय है।

उन्होंने कहा कि इससे पहले दिल्ली में सालों तक सत्ता में बैठी पार्टियां विकास नहीं दे पाईं। हमने अपने कार्यकाल में विकास की नई सोच और कार्य को बढ़ावा दिया। हमने दिल्ली में विकास का मॉडल लागू किया।अब समय आ गया है कि उत्तराखंड में भी वही सोच और विकास का मॉडल लागू हो।

केजरीवाल ने इस मौके पर चुनावी वादों की झड़ी लगा दी। उन्होंने कहा कि अगर आप की सरकार आई तो लोगों को 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी। प्रदेश में बिजली कटौती नहीं होगी। कृषि काश्तकारों को मुफ्त बिजली दी जाएगी। पुराने बिजली बिलों का बकाया भी माफ किया जाएगा। नए सिरे से बिजली की रीडिंग होगी। 24 घंटे बिजली देने में 3-4 साल का समय लगेगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उत्तराखंड सरकार के घाटे के सवाल पर कहा कि जब हमारी सरकार दिल्ली में बनी थी तो वहां भी घाटे में सरकार चलती थी। आज देश में केवल दिल्ली की सरकार एकलौती है जो घाटे में नहीं है। दिल्ली का बजट 60 हजार करोड़ रुपये है। यहां बिजली में 2200 करोड़ रुपये का खर्च आता है। उत्तराखंड के 50 हजार करोड़ रुपये के बजट में से केवल 1200 करोड़ का खर्च आएगा।

उन्होंने कहा कि जो काम 70 साल में सभी पार्टियां नहीं कर पाईं, वह आज दिल्ली में हो रहा है। गवर्नेंस के दो मॉडल हैं। एक मॉडल भ्रष्टाचार का है जो उत्तराखंड सरकार में चल रहा है। हमारी सरकार आई तो हम पांच साल तक टैक्स नहीं बढ़ाएंगे। कोई अतिरिक्त टैक्स नहीं लगाएंगे। आप जनता के फंड से चलने वाली पार्टी है। चोरी को रोकेंगे।

केजरीवाल ने कहा कि एक मंत्री 100 यूनिट बिजली फ्री देने की बात कह रहे हैं। सुनकर अच्छा लगा, लेकिन चुनाव के ठीक पहले यह घोषणा पता नहीं पूरी होगी या नहीं। उत्तराखंड स्वयं बिजली बनाता है और दूसरे राज्यों को बेचता है। फिर भी यहां की जनता को मुफ्त बिजली देने की सोच किसी को नहीं आई। याद भी आई तो चुनाव के ठीक छह महीने पहले। अपनी सत्ता के चक्कर में भाजपा- कांग्रेस उलझी हुई हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस की सरकारों ने राज्य में विकास कार्यों को प्राथमिकता नहीं दी है। राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए कई किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।अब विधानसभा चुनाव तक वह हर महीने उत्तराखंड आएंगे।