उत्तराखंड: सरोवर नगरी में फिर बड़ा भूस्खलन, भरभराकर गिरे कई घर

0
68
नैनीताल

विश्व प्रसिद्ध पर्यटन और सरोवर नगरी नैनीताल में शनिवार को एक बार फिर बड़ा भूस्खलन हो गया है। यह भूस्खलन दोपहर करीब 12 बजे से करीब 15-20 मिनट के अंतर पर खिली धूप के बीच नगर के आधार बलिया नाला के जलागम क्षेत्र में पुराने रईश होटल के पास हुआ है। इस दौरान कई घर भरभराकर बलिया नाले में समा गए।

भूस्खलन से अब नगर के शहीद मेजर राजेश अधिकारी राजकीय इंटर कालेज की सीमा को छू लिया है। यहां स्थित वेदर स्टेशन अब भूस्खलन से कुछ फिट की दूरी पर ही रह गया है। इसके करीब 15-20 फिट दूरी पर एक रास्ते के बाद प्रधानाचार्य का आवास स्थित है। आज के भूस्खलन में पिछले वर्ष खाली करवाए गए करीब दर्जन भर आवास भी बलिया नाले में समा गए हैं। अब यहां केवल एक बड़ा भवन ही नजर आ रहा है। यह भी भूस्खलन की जद में है।

इसके अलावा पूर्व में चट्टान पर स्थापित देवी मंदिर से हटाकर सड़क किनारे बनाया गया देवी मंदिर भी भूस्खलन की जद में है। आज स्थानीय लोगों के द्वारा इस मंदिर से मूर्तियों को हटा दिया गया है। बिजली की लाइन भी भूस्खलन की जद में आई है। इसके बाद लाइन से बिजली का संयोजन हटा दिया गया है। इसके अलावा पानी की लाइन भी भूस्खलन से फट गई है, और पानी भूस्खलन के स्थान पर बह रहा है।

भूस्खलन के आगे होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। भूस्खलन जिस मार्ग पर हुआ वहां कई दुपहिया वाहन खड़े थे। स्थानीय लोगों ने हिम्मत दिखाकर उन्हें वहां से बचाया। भूस्खलन से हल्द्वानी रोड तक थरथराहट महसूस की गई। सूचना के बाद नगर में पहुंचे प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने भी पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी और पूर्व विधायक सरिता आर्य के साथ क्षेत्र में भूस्खलन का जायजा लिया।

उल्लेखनीय है कि यहां पिछले 18 अक्टूबर से भूस्खलन जारी है। इसके बाद पूरे हरिनगर क्षेत्र के लोग घर छोड़कर वहां से अन्यत्र चले गए हैं।