पहाड़ी संस्कृति की झलकियां बिखरेंगी अल्मोड़ा फेस्टिवल मे

0
842

उत्तराखंड में कुमाऊनी संस्कृति का जश्न मनाते हुए ‘अल्मोड़ा फेस्टिवल’ का उद्घाटन बीते रविवार की सुबह एक साइकिल रैली के साथ किया गया। यह दिन कुमाऊं के लिए खास रहा जिसमें बच्चों के लिए अलग-अलग कार्यक्रमों के साथ हैरिटेज वॉक का भी आयोजन किया गया। बॉलीवुड गायक और अभिनेता मोनाली ठाकुर और गायक संकल्प खेतवाल के साथ एक स्टार स्टड नाईट का आयोजन हुआ जिसमें इन दोनों ने एक साथ मंच पर प्रस्तुति दी, दर्शकों ने देर रात तक इस शो का आनंद लिया।

सांस्कृतिक रूप से समृद्ध शहर अल्मोड़ा ने हमेशा से ही शिक्षा, संस्कृति, साहित्य और कला के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाई है।अल्मोड़ा फेस्टिवल का उद्देश्य इस परंपरा को सभी के सामने प्रदर्शित करना है। इस फेस्टिवल में भाग लेने लोग दूर-दूर से आए हैं।अल्मोड़ा के जिला मजिस्ट्रेट नितिन सिंह भादौरीया ने इस फेस्टिवल का उद्घाटन करते हुए बताया कि, “यह फेस्टिवल पर्यटन और सामाजिक-आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने में मदद करता है।”

सुबह से अलग-अलग कार्यक्रमों को मज़ा लेने के बाद शाम ढ़लते ही संक्लप खेतवाल और उनके ग्रुप (“दिल है हिंदुस्तान” फेम), ने उपने परफॉर्मेेस से दर्शकों को मन मोह लिया और दर्शक संकल्प और उनके ग्रुप की प्रस्तुति पर जम कर थिरके। बैंड-शो का आनंद जमकर लिया जो फ्यूजन पर परफॉर्म करने के लिए मशहूर हैं, इसके अलावा देर रात को मोनाली ठाकुर मंच पर उतरी,और अपने गानों के से दर्शकों का मन मोह लिया।

पहले दिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अलावा, फेस्टिवल में राफ्टिंग, कयाकिंग, क्लिफ जंपिंग आदि जैसे एडवेंचर स्पोर्ट भी देखे गए। रानीखेत में, स्कूली बच्चों ने नरसिंह ग्राउंड में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लिया। जगेश्वर में कई कार्यक्रम भी आयोजित किए गए, जिसमें सुबह आयोजित योगा फेस्टिवल भी शामिल है।

फेस्टिवल के हाईलाइट्स की अगर बात करें तो लोक गायक माया उपाध्याय का प्रदर्शन भी शामिल था। तीन दिवसीय अल्मोड़ा महोत्सव के दो और दिन बाकि हैं, जिसके दौरान और अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।