उत्तराखंड : एम्स, ऋषिकेश में अब मरीजों को मिलेगी पीएम वानी हाई स्पीड इंटरनेट सुविधा, नहीं होगी इंटरनेट की परेशानी

0
177

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), ऋषिकेश में मरीजों को अब इंटरनेट सुविधा के लिए परेशानी नहीं उठानी पडे़गी। मरीजों के हित में संस्थान ने प्रधानमंत्री वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफ़ेस हाई स्पीड इंटरनेट सेवा की कवायद शुरू कर दी है। खास बात यह है कि यह सुविधा मरीजों को निःशुल्क उपलब्ध होगी और सम्पूर्ण ओपीडी और आईपीडी एरिया में यह वाई-फाई नेटवर्क कार्य करेगा।

प्रधानमंत्री वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस की सुविधा से अब उत्तराखंड के एम्स ऋषिकेश का कैम्पस भी आच्छादित होगा। केन्द्र सरकार की हाई स्पीड इंटरनेट सेवाओं को प्रदान करने वाली इस योजना के शुरू हो जाने से उन मरीजों को विशेष लाभ होगा, जिनके मोबाइल में नेट उपलब्ध नहीं होने अथवा नेट रिचार्ज समाप्त हो जाने के कारण पंजीकरण करवाने, मोबाइल से अन्य आवश्यक दस्तावेज डाउनलोड करने और डाटा निकालने में परेशानी उठानी पड़ती है।

संस्थान के मेडिकल ब्लाॅक में पीएम वानी हाई स्पीड इंटरनेट सुविधा के ट्राॅयल रन के उद्घाटन के दौरान एम्स की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर डा. मीनू सिंह ने बताया कि इस सुविधा के शुरू हो जाने से मरीजों को अब एम्स कैम्पस में 24 घंटे वाई-फाई कनेक्टिविटी की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने कहा कि हाई स्पीड की इस इंटरनेट सुविधा से मरीजों को अपना पंजीकरण कराने, विभिन्न जांच रिपोर्टों और इलाज से संबन्धित अन्य डाटा को शीघ्र डाउनलोड करने सहित मोबाइल डाटा से संबंधी अन्य मामलों में कनेक्टिविटी का सीधा लाभ प्राप्त होगा।

संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर मीनू सिंह ने बताया कि शुरुआती चरण में निःशुल्क नेटवर्क सेवा की यह सुविधा अस्पताल के ओपीडी एरिया और आईपीडी एरिया में प्रदान करने की योजना है। इसके बाद इस सुविधा से संस्थान के अन्य एरिया को भी जोड़ा जाएगा।

इस मौके पर दूर संचार विभाग मेरठ मंडल के वरिष्ठ उप महानिदेशक देव कुमार चक्रवर्ती ने पीएम वानी वाई-फाई नेटवर्क सुविधा की विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार की उच्च गति की यह इंटरनेट सुविधा विशेष तौर से भीड़-भाड़ वाले स्थानों, सघन आबादी वाले क्षेत्रों और कमजोर नेटवर्क वाले स्थानों के लिए बहु लाभकारी है। उन्होंने कहा कि एम्स में दैनिक तौर पर बड़ी संख्या में मरीजों का आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में वाई-फाई की यह सेवा सभी मरीजों के लिए बहुत लाभकारी सिद्ध होगी।

कार्यक्रम के दौरान डीन एकेडेमिक प्रो. जया चतुर्वेदी, एम्स के उप निदेशक प्रशासन ले. कर्नल ए. आर. मुखर्जी, दूर संचार विभाग मेरठ क्षेत्र के निदेशक दिनेश कुमार गुप्ता, उप निदेशक शिकायत प्रकोष्ठ कमल भगत, एम्स अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर संजीव कुमार मित्तल, वित्तीय सलाहकार ले. कर्नल सिद्धार्थ, विधि अधिकारी प्रदीप चंद्र पाण्डेय और एम्स के आईटी सेल के प्रभारी अधिकारी और पीपीएस विनीत कुमार सहित संस्थान के कई अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।