मकान बेचने के नाम पर 19 लाख की धोखाधड़ी

0
33
File Photo: Crime
हरिद्वार,  मकान बेचने के नाम पर करीब 19 लाख की रकम हड़प ली गयी है। पीड़ित ने मकान की कीमत का भुगतान करने के बाद रजिस्ट्री करा ली। मगर जब कब्जा लेने पहुंचा तो आरोपिताें की नीयत बदल गई। पीड़ित को मकान भी नहीं मिला और उसने रकम भी गवां दी। इस पर पीड़ित ने बुधवार को पुलिस को तहरीर दी है। मामला कनखल क्षेत्र का है।
कनखल थाना प्रभारी हरिओम राज चौहान को पीड़ित जितेंद्र कुमार पुत्र विजय सिंह निवासी राजा गार्डन जगजीतपुर ने बताया कि गीता विश्वकर्मा निवासी जगजीतपुर (हाल निवासी संदेशनगर) से 1243 वर्गफीट के एक निर्मित मकान का सौदा 4 अप्रैल 2018 को 18 लाख 58 हजार में किया था। इसकी एवज में करीब दो लाख का भुगतान गीता विश्वकर्मा को नकद कर दिया गया। गीता विश्वकर्मा की सास सरला देवी ने मकान की रजिस्ट्री कर दी। जबकि बकाया रकम 16 लाख 58 हजार कर रकम गीता विश्वकर्मा के पति महेश धीमान के खाते में डाल दी गई। पीड़ित ने बताया कि जब वह मकान का कब्जा लेने पहुंचा तो उसे धमकाकर भगा दिया गया। कई बार बातचीत करने के बाद भी उसे कब्जा नहीं मिला।
जितेंद्र का कहना है कि जब पूछताछ की तो पता चला सरला देवी की मकान में कुल संपत्ति 600 फीट है। सरला देवी ने 600 फीट जमीन के बदले में 1243 फुट की रजिस्ट्री करके धोखाधड़ी की है। इसके बाद पीड़ित ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई। पुलिस पूरे प्रकरणक की जांच कर रही है। जगजीतपुर चौकी प्रभारी शंभू सिंह सजवाण ने बताया कि जांच के बाद धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।