संघर्ष और परेशानियों तले खो गया ऐश्वर्या का बचपन

0
1288

गढ़वाल क्षेत्र के सिद्ध पीठ धारी देवी मंदिर का नाम किसने नहीं सुना होगा। माता धारी देवी के दर्शन के लिए श्रद्धालु दूर दूर से आते हैं। बीते दिनों नवरात्रों की हलचल में धारी देवी मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ था। इस भीड़-भाड़ में अपने कैमरे के साथ एक 16 साल की लड़की ऐश्वर्या लोगों से दरखास्त करती है कि एक फोटो खिंचा ले, बस एक फोटो।

जी हां, सिद्ध पीठ धारी देवी मंदिर में इन दिनों श्रद्धालुओं का हुजूम उमडा हुआ है। यहां कोई धारी देवी से अपने परिवार की खुशहाली के लिए दुवा कर रहा है। तो कोई देवी से अपने पापों के लिए क्षमा याचना कर रहा है। वही इसी मंदिर परिसर में एक और तस्वीर है जो सबका ध्यान अपनी और आकर्षित करती है।

यह तस्वीर है 16 साल की गोल मटोल सुन्दर सी लड़की की है। जो गले में डीएसएलआर कैमरा टांके हुए लोगों से एक फोटो खींच लेने की अपील करती दिखती है। लोग उससे फोटो खिचवाने से मना कर देेते है तो वह निराश होकर बैठ जाती है जब दूसरे भक्त दाम कम कर देने की शर्त पर फोटो खिचवाते हैं तो वह लड़की खुशी से झूमने लगती है। हमने जब इस दूसरी तस्वीर पर गौर किया तो एक दर्द भरी कहानी सामने आयी। जो इस समाज में जीवित रहने के लिए मानवीय संघर्ष की कहानी को बया करती है। यह संघर्ष भरी कहानी 16 वर्ष की एश्वर्या की है। दरअसल एश्वर्या के पिता इस दुनियां में नही है और एश्वर्या के कंधों पर अपने चार छोटे भाई-बहनों और एक असहाय मां का जिम्मा आ गया। इस खेलने कूदने की उम्र में इतनी बडी जिम्मेदारी से भागने के बजाया एश्वर्या ने यह बोझ अपने कंधों पर ले लिया व समाज में एक मिशाल की तरह सामने आई है।

unnamed (10)

श्रीनगर के एक पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाली एश्वर्या श्रीनगर से रोजाना दस किलोमीटर दूर धारी मंदिर पहुच जाती है और सुबह से लेकर देर सांय तक वहीं फोटोग्राफी करती है। एश्वर्या बताती है कि उसके पिता की डायबटिज़ से मौत हो गई। जिसके बाद उनके परिवार की 4 नाबालिग बेटियां व 6 वर्षीय छोटे भाई की जिम्मेदारी उसकी मां के कन्धों पर आ गई। मां ने बच्चों को पालने के लिए नौकरी तलाश की लेकिन हर जगह निराशा ही हाथ आई। उनके घर मे चार-चार स्कूल पढने वाली बेटियां व एक बेटे को जब कई आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा तो एश्वर्या ने अपने हाथों पर कैमरा थाम लिया। एश्वर्या बताती है कि इन दिनों नवरात्रा चल रहे है तो भक्त भी अधिक पहुंच रहे है जिससे उनकी थोडा बहुत कमाई हो जाती है। जो कि इतने बडे परिवार को चलाने के लिए नाकाफी है।

एश्वर्या को आगे की चिंता सताने लगी है क्योंकि नवरोत्रों के बाद धारी देवी मंदिर पर कम श्रद्धालु आते हैं और पहले से ही घर के हालात खराब हैं। अगर आप धारी देवी मंदिर जाते हैं तो ऐश्वर्या से एक फोटो जरुर खिंचवाएं। बहुत ही कम उम्र में परेशानियों का पहाड़ टूटने से अब एश्वर्या को सरकार व समाज से मदद की दरकार है।

 

अगर आप एश्वर्या की मदद करना चाहते हैं तो इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैंः 09997258166