आपदा राहत कार्य: 26 जनवरी को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित होंगे पुलिसकर्मी

    0
    58
    एसडीआरफ

    उत्तराखंड आपदा में तत्काल बचाव और राहत के उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को 26 जनवरी को सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार ने निर्देश दे दिए हैं।

    डीजीपी अशोक आज जनपद नैनीताल के एक दिवसीय दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने जनपद नैनीताल पुलिस की ओर से आपदा के दौरान किए गए कार्यों के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल की पीठ थपथपाते हुए पूरी पुलिस टीम की सराहना की है। डीजीपी ने कहा कि इस आपदा के दौरान उत्कृष्ट सराहनीय कार्य करने वाले अधिकारी,कर्मचारियों को 26 जनवरी में सम्मानित करने के लिए निर्देशित किया है।

    उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि भविष्य में पुलिस की ओर से इसी प्रकार का जनता को सहयोग करते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करती रहेगी। उन्होंने काठगोदाम कॉलटैक्स के सामने धंसी हुई रेलवे लाइन और हल्द्वानी क्षतिग्रस्त गौला पुल के आपदा ग्रस्त क्षेत्रों का भ्रमण किया।

    डीजीपी ने क्षतिग्रस्त गौला पुल में दुर्घटना की रोकथाम करने के लिए पुल के दोनों ओर पर्याप्त पुलिस बल नियुक्त करने के लिए अधीनस्थों को निर्देशित किया। इसके तत्पश्चात पुलिस बहुउदेद्शीय भवन हल्द्वानी के सभागार में 16 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक जनपद नैनीताल पुलिस की ओर से आपदा के दौरान किए गए समस्त कार्यों की समीक्षा की।

    8889 को विस्थापित और 2920 लोगों को किया रेस्क्यू-

    इस दौरान बताया गया कि नैनीताल पुलिस की ओर से 6113 वाहनों में कुल 13207 व्यक्तियों को पर्वतीय क्षेत्र में जाने से लोगों को रोका गया। 8889 लोगों को विस्थापित और 2920 लोगों को रेस्क्यू किया गया। प्रदेश के 3646 लोगों को खाद्य सामग्री वितरित की गई। इसके अतिरिक्त एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, के सहयोग से जनपद पुलिस के द्वारा 32 शवों को निकाला गया,जिसमें 30 शिनाख्त की जा चुकी है।

    आपदा राहत टीम में एनडीआरएफ के 44 जवान,एसडीआरएफ 12,पीएसी 2 कम्पनी,फायर यूनिट 7 टीमें,जल पुलिस 5,सेना 70 जवान एवं जनपदीय पुलिस के 1572 अधिकारी, कर्मचारियों लगे हुए हैं। इस दौरान जिले में 1604 लोगों द्वारा आपदा से सम्बन्धित सूचनाएं और पुलिस के सोशल मीडिया पर 83 सूचनाएं पर कार्य किया गया। आपदा क्षेत्र विशेषकर रामगढ़,ओखलकाण्डा और खैरना क्षेत्र में जहं पर विदयुत आपूर्ति बन्द होने से फोन,मोबाइल से संपर्क ना होने के कारण इन स्थानों में वायरलेस स्थापित किया गया।

    इस मौके पर नीलेश आनंद भरणे पुलिस उपमहानिरीक्षक कुमायूं परिक्षेत्र नैनीताल, प्रीति प्रियदर्शिनी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल, हरीश वर्मा,अपराध,यातायात नैनीताल, डॉ.जगदीश चन्द्र एसपी सिटी हल्द्वानी, सर्वेश पंवार, सहायक पुलिस अधीक्षक, क्षेत्राधिकारी लालकुआं,शान्तुन पाराशर क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी,संन्दीप नेगी क्षेत्राधिकारी नैनीताल, प्रमोद शाह क्षेत्राधिकारी यातायात,महेश चन्द्रा प्रतिसार निरीक्षक पुलिस अधीक्षक,रिजर्व पुलिस लाइन नैनीताल में मौजूद रहे।