उत्तराखंड: कांग्रेस ने त्रिवेन्द्र सरकार की मंशा पर उठाए सवाल 

0
9
देहरादून, उत्तराखंड  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने प्रस्तावित राजधानी गैरसैण में जमीनों की खरीद फरोख्त पर रोक हटाने के सरकार के निर्णय पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि यह कदम राज्य निर्माण आन्दोलन की भावना के विपरीत है। भाजपा सरकार ने अपने इस जन विरोधी निर्णय से भविष्य में गैरसैण और राज्य के सपने को ग्रहण लगा दिया है। कांग्रेस  इस कानून को वापस करने की मांग करते हुए आंदोनल की सख्त चेतावनी  देती  है।
प्रीतम सिंह ने जारी बयान में कहा कि, “गैरसैण में भाजपा की वर्तमान सरकार जमीनों की खरीद-फरोख्त पर लगी रोक हटाकर राज्य निर्माण की भावनाओं पर प्रहार किया है। जबकि कांग्रेस सरकार द्वारा राज्य की आत्मा गैरसैण में निर्माण कार्य को आगे बढ़ाने का काम किया गया। इससे यह दिखने लगा कि भविष्य में गैरसैण को लेकर भाजपा सरकार की राह यहां की भावनाओं के विपरित है , जिसे कांग्रेस सहन नही करेगी। “
प्रीतम सिंह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरते  हुए कहा कि, “खनन माफिया, भू-माफिया और शराब माफिया के हाथों की कठपुतली बनकर राज्य के विकास को रोका जा रहा है।कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि गैरसैण में पूर्व में लागू भू-कानून को यथावत रखा जाय अन्यथा कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतर कर इसका पूरजोर विरोध प्रदर्शन करेगी।”
कांग्रेस अध्यक्ष ने महंगाई पर भाजपा सरकार के वादें को याद दिलाते हुए कहा कि पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार वृद्धि की जा रही है। जबकि लोकसभा तथा विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान देश की जनता से मंहगाई कम करने का वायदा किया था लेकिन उल्टे दामों में वृद्धि की जा रही है। इ​सलिए सरकार मंहगाई नीति से आम आदमी त्रस्त और परेशान है।
उन्होंने कहा कि, “केन्द्र सरकार का अनुसरण करते हुए राज्य की त्रिवेन्द्र सरकार द्वारा राज्य में पेट्रोल के दाम 2 रुपये 50 पैसे तथा डीजल के दाम एक रूपया बढ़ा कर राज्य की जनता की जेब पर डाका डालने का काम किया है। ऐसे में यहां के लोग दूसरे राज्य से डीजल प्रेटोल खरीदने पर मजबूर होंगा जिसके कारण राजस्व की भी हानि होगी।