उत्तराखंड में कोरोना के रिकार्ड 1925 नए मामले, 13 की मौत

0
4345
कोरोना
उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान मंगलवार को इस साल में पहली बार कोरोना के रिकॉर्ड 1925 केस मिले हैं। इस दौरान 13 मरीजों की मौत हुई है। राज्य में 11,2071 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें से 98,897 लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं। प्रदेशभर में 620 बूथों पर 34,799 लोगों को कोविड टीका लगाया गया। अभी तक प्रदेशभर में कुल 12,00434 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं।
– राज्य में 9353 सक्रिय मामले, 405 हुए डिस्चार्ज
– 620 बूथों पर 34,799 लोगों को लगा टीका
मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार आज अलग-अलग सरकारी और निजी लैब से कुल 44,201 सैम्पल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि राज्य के सभी जिलों में साल के सबसे अधिक 1925 रिकार्ड कोरोना के मरीज एक दिन में मिले हैं। सबसे ज्यादा देहरादून जिले में 775 मरीज मिले हैं। इसके बाद हरिद्वार में 594 नैनीताल में 217, टिहरी में 35, ऊधमसिंह नगर में 172 नए मामले आए। अल्मोड़ा में 31, चमोली 08, चंपावत 21 और उत्तरकाशी में एक मरीज मिला है। पौड़ी में 33, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में क्रमशः 13-13,रुद्रप्रयाग में 12 कोरोना के संक्रमित मिले हैं।
मंगलवार को प्रदेश में कुल 13 कोरोना संक्रमितों की उपचार के दौरान मौत हुई है। इनमें से दो महिला और तीन पुरुष को मिलाकर पांच लोगों की सुशीला ​तिवारी अस्तपाल हल्द्वानी और एक महिला की ऋषिकेश एम्स में मौत हुई है। देहरादून ​में पांच संक्रमित हिमालयन और दो लोगों की कैलास अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हुई है। कुल 13 में से 10 पुरुष और तीन महिला की कोरोना से मौत हुई है। अभी तक कुल 1780 कोरोना संक्रमित की मौत हो चुकी है। राज्य में मृत्यु दर 1.59 फीसद है।
प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या मंगलवार को 9353 पहुंच गई है। आज कुल 405 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर गए। सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण की औसत दर 3.58 प्रतिशत दर्ज की गई। राज्य से 2041 (1.85) मरीज स्वस्थ होकर बाहर जा चुके हैं। आज 36773 लोगों के सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए हैं। राज्य में अब तक 11,2071 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 98897 (88.24 दर) स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी  दर में लगातार गिरावट चिंता का विषय बना हुआ है।
उत्तराखंड में 54 जोखिम क्षेत्र
देहरादून सहित प्रदेश के चार जिलों में जोखिम क्षेत्र की संख्या अब बढ़कर 54 हो गई है। देहरादून जिले में अब कुल 30 जोखिम क्षेत्र हैं। देहरादून में 23, विकासनगर में 04 ऋषिकेश में 03 जोखिम क्षेत्र है। हरिद्वार जिले में कुल 06 जोखिम क्षेत्र चिह्नित हुए हैं। इनमें रुड़की में 5 और हरिद्वार में एक जोखिम जोन बनाए गए हैं। नैनीताल जिले में कुल 17 जोखिम क्षेत्र अभी भी हैं। पौड़ी जिले के होटल चंद्रलोक श्रीकोट को  जोखिम जोन बनाया गया है।
34799 का वैक्सीनेशन 
प्रदेश में 620 बूथों पर 34799 लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगाया गया। जहां 45 से 60 साल की आयु के 33423 लोगों को टीका लगाया गया, वहीं 415  हेल्थ और 461 फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लगाया गया। देहरादून में 124 बूथों पर 45-60 साल के आयु के 7968 टीका लगाया गया। 203 हेल्थ वर्कर और 106 फ्रंट लाइन को टीका लगाया गया। अभी तक प्रदेश में 1200434 लोगों को टीका लगाया जा चुका है, जबकि दोनो डोज 196964 व्यक्तियों को लगाई जा चुकी हैं।