राज्य में बढ़ते नशे के कारोबार को जवाब देने 11 दिसंबर को उत्तराखण्ड दौड़ेगा

0
1246

उत्तराखंड मे बढ़ते नशे के ख़तरे से निपटने के लिये राज्य पुलिस ने क़ानून की सख़्ती के साथ साथ युवाओं को प्रेरित करना का रास्ता अपना लिया है। आने वाली 11 तारीख़ को राज्य पुलिस देहरादून में “रन अगेंस्ट ड्रग्स रन अगेन्सट करप्शन” के नाम से राज्य की पहली राष्ट्रीय स्तर मैराथन का आयोजन करेगी। इस दौड़े में राज्य भर के कई स्कूल, कॉलेज और शैक्षण संस्थाओं के छात्र हिस्सा लेंगे। इस दौड़ के बारे में जानकारी देते हुए राज्य के पुलिस उप महानिदेशक और पुलिस स्पोर्ट्स क्लब के सचिव अशोक कुमार ने बताया कि राज्य के सामने तेज़ी से फैलते नशे के कारोबार को रोकना एक बड़ी चुनौती है। और क्योंकि नशे का सबसे बड़ा निशाना युवा वर्ग होता है इसलिये उन्हें इसके ख़तरे से आगाह कराना बहुत ज़रूरी है। उन्होंने ये भी कहा कि क़ानून अपना कान बख़ूबी कर रहा है लेकिन अगर युवाओं को खेल और उससे होने वाले फ़ायदों के बारे में बताया जाये तो नशे से लड़ाई में हमें स्वाभाविक जीत मिल जायेगी।

इस मौक़े पर बोलते हुए देहरादून के एसएसपी सदानंद दाते ने कहा कि ज़िला स्तर पर भी पुलिस ड्रग्स के ख़िलाफ़ मोर्चा खोले हुए है।

मैराथन पुलिस लाइन से शुरू होगी उसके बाद आराघर, नानी बेकरी, राजपुर रोड, मसूरी डायवर्जन से होते हुए वापस पुलिस लाइन पर ख़त्म होगी। सारे रास्ते पर वॉटकिंस प्वाइंट होंगे साथ ही 108 एंबुलेंस की सुविधा भी रहेगी। मैराथन तीन वर्गों मे होगी- 21 किमी, 7 किमी, और 2 किमी। मैराथन का रेजिस्ट्रेशन फ़्री है और ऑनलाइन भी किया जा सकता है। मैराथन कि तुल पुरस्कार राशि १० लाख रुपए है। मैराथन के ब्रैंड एम्बेसडर पियो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन कर चुके मनीष रावत होंगे।

इस मौक़े पर आई जी संजय गुंज्याल, एसपी बलिंदरजीत सिंह, एसएसपी तृप्ति भट्ट, आदि मौजूद रहे।