गैंगरेप का एक आरोपित गिरफ्तार, पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

0
23
File Photo: Crime
हरिद्वार। पथरी थाना क्षेत्र में पुलिस ने शनिवार को सामूहिक दुष्कर्म के एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। बावजूद इसके पीड़िता के पिता ने पुलिस पर नाइंसाफी करने का आरोप लगाया है। पीड़िता के पिता का आरोप है कि पुलिस ने बाकी चार आरोपितों पर मुकदमा दर्ज नहीं किया है। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का कहना है कि इस मामले में एसपी देहात को निर्देश दे दिया गया है, जल्द ही जांच कर आरोपितों पर कार्रवाई की जाएगी।
जानकारी के अनुसार पथरी थाना क्षेत्र में पांच लोगों ने एक नाबालिग लड़की को लगभग डेढ़ महीने तक अपनी हवस का शिकार बनाया था। लड़की ने इस घटना की जानकारी अपने पिता को दी। पिता ने पथरी थाना पुलिस को घटना से अवगत कराया। लेकिन पुलिस ने कोई नहीं कार्रवाई की। पीड़िता के पिता ने आरोप लगाते हुए कहा कि एसआई गजेंद्र सिंह रावत ने उनके साथ अभद्र व्यवहार कर उन्हीं पर मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी और थाने से भगा दिया।
पीड़िता के पिता ने कहा कि थाने में सुनवाई न होने के बाद उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से भी इंसाफ की गुहार लगाई। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके बाद उन्होंने कोर्ट की मदद ली। कोर्ट के आदेश पर थाना पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। लेकिन मुकदमा दर्ज होने के बाद भी आरोपित खुलेआम घूमते रहे, पुलिस ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। इस दौरान आरोपित पीड़ित परिवार को लगातार डराते धमकाते रहे और जान से मारने की धमकी देते रहे। इसके बाद पीड़िता के पिता ने पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार को पूरी घटना से अवगत कराया। अशोक कुमार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल ही हरिद्वार एसएसपी को जांच के आदेश दिए। जिसके बाद पथरी थाना पुलिस हरकत में आई और एक आरोपित चंगेज खान को गिरफ्तार कर लिया।