कार्बेट में तीन हथिनी रिटायर्ड और दो का नामकरण संस्कार

0
451

रामनगर- कार्बेट में कार्यरत तीन मादा हाथियों की विदाई सभी को रुला देने वाली थी, माहौल एसा था मानो कोई आम आदमी का रिटायरमेंट हो रहा हो, और जलसा एसा कि सभी देख कर दंग थे, क्योकि तीन मादा हाथियों की विदाई के साथ ही दो नये हाथी के बच्चों का नामकरण संस्कार भी इसी मौके पर किया गया, और वो भी सूबे के वन मंत्री और कार्बेट के अधिकारियों के समक्ष।

गौरतलब है कि कॉर्बेट पार्क में सेवा करने वाली लक्ष्मा, सोनकली व पवनपुरी नाम की तीन मादा हाथी की सेवानिवृत्ति का माहौल देख सभी दंग थे. लोग भावुक होकर विदाई समारोह को देख रहे थे वहीं दुसरी ओर जश्न भी था दो हाथियों के बच्चों के नामकरण का, जिसे देखने को लोग उमड पडे थे,वन मंत्री हरक सिंह रावत व वरिष्ठ वनाधिकारियों की मौजूदगी में तीनों मादा हाथियों को भावभीनी विदाई दी गई।

आयोजन कार्बेट के धनगढ़ी गेट पर किया गया जहां पहली बार एसा देखने को मिला कि हाथियों की विदाई और नामकरण संस्कार का उत्सव एक साथ। इस अवसर पर साक्षी बने खुद वन मंत्री रावत ने कहा कि, “प्रदेश में पहला मामला है जहां हाथियों को भी 65 साल की उम्र में सेवा से मुक्त कर सम्मानजनक विदाई दी गई है। इतना ही नहीं राजाजी टाइगर रिजर्व में दो हाथियों के बच्चों का नामकरण संस्कार भी किया गया।”