रुड़की कांडः खेतों में पुलिस के सामने बच्चों ने नष्ट की कच्ची शराब

0
44

हरिद्वार। उत्तराखंड और यूपी में जहरीली शराब से मरने वालों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। दोनों प्रदेश में अबतक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इस घटना के बाद नींद से जागी पुलिस कच्ची शराब बनाने के ठिकानों पर कार्रवाई तो कर रही है, लेकिन लापरवाही के साथ। मामला मंगलौर कोतवाली क्षेत्र का है, जहां पुलिस ने एक गांव में छापा मारकर कई हजार कुंतल कच्ची शराब बनाने वाले लहन को नष्ट करवाया है। इसका एक वीडियो सामने आया है जिसमें बच्चों से ये काम करवाया जा रहा है।
रुड़की में जहरीली शराब के कारण 37 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन इसके बाद भी पुलिस इस मामले में लापरवाही बरत रही है। इसका एक उदाहरण मंगलौर कोतवाली क्षेत्र में देखने को मिला। मंगलौर पुलिस को इलाके के एक गांव में कच्ची शराब बनाने की सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही गांव के बाहर स्थित एक गन्ने के खेत में पुलिस पहुंची तो देखा कि कई गड्ढों में भारी मात्रा में लहन इकट्ठा किया हुआ था। पुलिस ने इस लहन को वहीं खेतों में गिरा दिया और कच्ची शराब बनाने वाले सभी उपकरणों को अपने कब्जे में ले लिया। सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बता ये कि इस लहन को गिराने के लिए पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ बच्चों का सहारा लिया। इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में शराब को खेत में फेंकने के लिए बच्चों से काम कराया जा रहा है। इतना ही नहीं, कुछ बच्चे भी उस जगह के आसपास खड़े है। जब इस वीडियो के बारे में मंगलौर कोतवाली प्रदीप चौहान से बात की गई तो पहले तो वो इस बात को नकारते नजर आए, लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि जहां पुलिस कार्रवाई करती है, वहां स्थानीय लोग एकत्र हो ही जाते हैं। खेतों में लाहन बहुत ज्यादा मात्रा में थी इसलिए उसे नष्ट करने के लिए ग्रामीणों की मदद ली गई। हालांकि, इस कार्रवाई के बाद नशा तस्कर फरार है, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।