उत्तराखंड की अरुषी को मिला फोर्ब्स में स्थान

0
32

सुप्रसिद्ध कत्थक नृत्यांगना एवं फिल्म निर्मात्री अरुषी निशंक को विश्व प्रसिद्ध पत्रिका ‘फोर्व्स मिडिल ईस्ट’ में उनकी विशिष्ट उपलब्धियों के लिए स्थान मिला है। यह पहला मौका है जब इस पत्रिका में उत्तराखण्ड की किसी शख्शियत को स्थान मिला है। ‘फोर्ब्स’ ने उत्तराखंड की बेटी अरुषी को महिला सशक्तिकरण और समाज सेवा के लिए एक उदाहरण के रूप में प्रस्तुत किया है।

अपने ‘गर्ल्स पावर’ परिशिष्ट के अन्दर ‘फोर्ब्स’ ने अरुषी निशंक द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित ‘आईडब्ल्यूईपी इन्टरनेशनल वूमैन प्रोग्राम’ की सराहना करते हुए लिखा है कि ऐसे आयोजन को समाज में लाने हेतु अरुषी निशंक ने बहुत महत्वपूर्ण एवं अच्छी पहल की है। ज्ञात हो कि फिल्म निर्मात्री एवं कत्थक नृत्यांगना अरुषी निशंक सुप्रसिद्ध कत्थक गुरु विरजू महाराज की शिष्या हैं, वे एक दर्जन से अधिक देशों में अपनी प्रस्तुति दे चुकी हैं।

फिल्म निर्माण के साथ-साथ अरुषी निशंक विगत कई वर्षां से महिला उत्थान तथा सशक्तिकरण एवं सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय हैं। अरुषी निशंक केन्द्र सरकार की ‘नमामि गंगे’ की प्रमोटर हैं तथा पवित्र गंगा एवं सहायक नदियों के लिए समर्पित ‘स्पर्श गंगा अभियान’ की संयोजक भी हैं।

अरुषी को उनकी महत्वपूर्ण उपलब्धियां के लिये देश एवं विदेश में अनेकां सम्मान एवं पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं, इनमें उत्तराखंड प्राइड, यूथ आईकन ऑफ द ईयर (दुबई), वीईग वूमैन स्वयंसिद्धा राष्ट्रीय सम्मान, उत्तराखण्ड गौरव सम्मान एवं मोस्ट आइकनिक पर्सनेल्टी अवार्ड (दुबई) आदि प्रमुख हैं। फोर्ब्स पत्रिका ने अरुषी द्वारा किये गये कार्यों की भरपूर सराहना की है। यह पत्रिका बहुत ही विशिष्ट कार्यों और बहुचर्चित लोगां को अपने संस्करण में बहुत ही कम स्थान देती है। इस दृष्टिकोण से कम उम्र में ही विश्व प्रसिद्ध पत्रिका में अरुषी को स्थान मिलना एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है और उत्तराखंड के लिए भी गौरव का विषय है।