हंसमुख छवि वाले जस्टिस कुरियन हुए रिटायर

0
34

नई दिल्ली,  सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस कुरियन जोसेफ आज रिटायर हो गए। आज वे अपने अंतिम कार्य दिवस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच का हिस्सा थे।

इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा कि ‘माई लार्ड, हाल के दिनों में आप सबसे लोकप्रिय जज रहे हैं।’ इस मौके पर अटार्नी जनरल ने कहा ‘हम सभी आपकी स्माइल मिस करेंगे।’ तब जस्टिस कुरियन जोसफ ने कहा, ‘मुस्कुराते हुए जीने में ही जिंदगी का आंनद है।’

आज ही शाम को सुप्रीम कोर्ट परिसर में जस्टिस कुरियन जोसेफ का फेयरवेल कार्यक्रम किया गया। फेयरवेल कार्यक्रम का आयोजन सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने किया था।

इस मौके पर हुए जस्टिस कुरियन ने अपने सम्बोधन में कहा कि, “मैंने जज के रुप में बिना भय और पक्षपात के काम किया। जस्टिस कुरियन जोसेफ ने कहा कि कानूनविद् का चुप रहना अज्ञानी व्यक्ति की हिंसा से ज्यादा खतरनाक है। उन्होंने कहा कि, “भारत एक विविधतापूर्ण देश है। पूरे देश को जो एक रखता है वो देश का संविधान है। जो लोग संविधान की व्याख्या करते हैं, उन्हें देश की विविधता का जरूर ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरे जज बनने से एक ही व्यक्ति ने आपत्ति जताई और वो है मेरी पत्नी।”

इस मौके पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि, “जस्टिस कुरियन जोसेफ मेरे व्यक्तिगत दोस्त हैं। हम दोनों देश के दो अलग-अलग हिस्से से आते हैं लेकिन हम हमेशा संपर्क में रहते हैं। चीफ जस्टिस ने कहा कि अच्छे जज जा रहे हैं और उनकी जगह लेने वाला होना चाहिए, जो कि मेरी चिंता है। नयी पीढ़ी जज नहीं बनना चाहती है।”

इस मौके पर अटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि, “अगर कोर्ट में इस बात पर वोटिंग हो कि कौन सबसे अच्छा जज रहा है तो जस्टिस जोसेफ को लोग वोट करेंगे। रिटायरमेंट के बाद आप कोई पद स्वीकार नहीं कर रहे हैं, दिस इज ग्रेट। “