कहाँ के मेयर ने किया कुर्सी पर बैठने से इनकार?

0
40

रुद्रपुर, नगर निकाय चुनाव में विजय प्राप्त कर चुके प्रत्यासियो का सपथ ग्रहण समारोह का आयोजन चल रहा है। रुद्रपुर नगर निगम में भी निर्वाचित मेयर रामपाल सिंह को कुमाऊ कमिश्नर राजीव रौतेला द्वारा सपथ दिलाई गई जिसके बाद मेयर रामपाल द्वारा निर्वाचित पार्षदों को शपथ दिलाई गई। इस दौरान कांग्रेसी सभासदों ने पूरे कार्यक्रम से दूरी बनाए रखी।

कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य विधायक राजकुमार ठुकराल, डीएम नीरज खैरवाल, एसएसपी कृष्ण कुमार वीके सहित शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे। कुमाऊ कमिश्नर राजीव रौतेला द्वारा रुद्रपुर के सिटी क्लब में मेयर सहित 24 पार्षदों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। गौरतलब है कि नगर निगम रूद्रपुर में 40 पार्षद है जिसमे से 21 पार्षद बीजेपी से है जबकि 16 पार्षद कांग्रेस सिंबल से निर्वाचित हुए है और 3 निर्दलीय रूप से चुनाव जीते है। जिसके बाद नगर निगम बोर्ड बैठक से पहले कांग्रेस के पार्षदों द्वारा शपथ दिलाने के लिए कहा गया लेकिन मेयर रामपाल द्वारा कहा गया कि सभी पार्षदों को शपथ के लिए सिटी क्लब में बुलाया गया था लेकिन कांग्रेस के पार्षदों ने इस प्रोग्राम का विरोध किया। जिसके बाद कांग्रेस पार्षदो द्वारा निगम में हंगामा शुरु किया गया, बाद में मेयर द्वारा सभी पार्षदों को नगर निगम में गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

वही मेयर पद की शपथ ग्रहण करने के बाद रामपाल ने कहा कि, “जब वो चुनाव मैदान में उतरे थे तो उन्होंने जनता से वादा किया था कि वो तब तक मेयर की कुर्शी पर नही बैठेंगे जब तक नजूल भूमि पर बसे लोगों को मालिकाना हक नही मिलता। उसी वादे का वो अनुपालन कर रहे है।” उन्होंने कहा कि, “वो सरकार से मांग करते है कि नजूल भूमि पर कोर्ट तेज़ी से कार्यवाही करें ताकि जिस उद्देश्य से छोटी सरकार का रुद्रपुर वासियों ने गठन किया था वो सफल हो सके। और जब तक नजूल भूमि मामले का निस्तारण नही हो जाता तब तक वो मेयर की चेयर पर नही बैठेंगे।”