शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कार्यकर्ताओं में भरा जोश

0
70

देहरादून। लोकसभा चुनाव-2019 में भाजपा को 2014 से ज्यादा बहुमत से सत्ता में लाने के शंखनाद के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने देहरादून में भाजपा के त्रिशक्ति सम्मेलन में कांग्रेस पर निशाना साधा और कार्यकर्ताओं में जीत का जोश भरा। उन्होंने कहा कि 55 साल और चार पीढ़ी की सत्ता में कांग्रेस ने देश को सिर्फ लूटा, वहीं पांच साल में भाजपा की मोदी सरकार ने हर क्षेत्र में देश को विकास के नए आयाम दिए। उत्तराखंड को देवभूमि और वीरभूमि का दर्जा देते हुए उन्होंने आम लोगों से लेकर सैन्य परिवारों तक में जोश का संचार किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ही ऐसी पार्टी है, जहां पोस्टर लगाने वाला कार्यकर्ता पीएम और पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकता है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी और वे खुद इसका उदाहरण हैं।

शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह देहरादून के परेड मैदान में पार्टी के टिहरी और हरिद्वार लोकसभा क्षेत्रों के त्रिशक्ति (बूथ पालक, अध्यक्ष व बीएलए-दो) सम्मेलन में कहा कि वे भी 1982 में गुजरात में बूथ अध्यक्ष होते थे। छोटे कार्यकर्ता को पार्टी ने दुनियां की सबसे बड़ी पार्टी का राष्ट्रीय अद्यक्ष बनने का सम्मान दिया। उन्होंने कहा कि ये उनका सम्मान नहीं है, ये कार्यकर्ता का सम्मान है, जो भाजपा की रीढ़ की हड्डी है। छोटा कार्यकर्ता पार्टी के साथ काम करता है, पार्टी उसे क्या मौका देती है, उदाहरण वे खुद हूं। ये भाजपा के अलावा कहीं नहीं है। देश भर की अन्य पार्टियों में अध्यक्ष परंपरागत वंशवाद से आते हैं। भाजपा भी गरीब चाय बेचने वाले के बेटे को प्रधानमंत्री बनाती है। बाकी दलों में परिवारवाद हावी है, वहां पीएम और पार्टी अध्यक्ष परिवार से ही आते हैं।
उत्तराखंड पीएम मोदी की प्राथमिकता है

शाह ने कहा कि 2014 में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में असंभव जीत को संभव कार्यकर्ताओं ने किया। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता पार्टी की ताकत हैं। अमि‍त शाह ने कहा कि कई विजय को उन्होंने देखा है असंभव लगते हुए चुनाव को भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रचंड विजय में बदलने का कार्य किया। उत्तराखंड व यूपी इसका उदाहरण है। कहा, जब वे उत्तराखंड में चुनाव की तैयारी के दौरान आए थे, तब कहा था कि एक बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाओ, मोदी की कैबिनेट सरकार और देवभूमि की डबल इंजन सरकार उत्तराखंड को माडल राज्य बनाएगी। दोनों सरकारों ने फास्ट ट्रेक पर उत्तराखंड के विकास को आगे बढ़ाने का काम किया। उत्तराखंड मोदीजी की प्राथमिकता में है। शाह ने कहा देश व विदेश के लोग यहां (उत्‍तराखंड) में चारधाम यात्रा के लिए आते हैं। यहां सबसे कठिन यात्रा केदारनाथ की होती है। पीएम ने केदारनाथ का कायाकल्प का कार्य किया है। केदारनाथ व बदरीनाथ का कायाकल्प करने का काम कठिन परिस्थितियों में भी किया गया। मोदी सरकार ने आलवेदर रोड बनाने के काम की शुरूआत की, जिसका 24 घंटे काम जारी है। उन्होंने कहा कि आने वाले एक साल में केदारनाथ की यात्रा सुगम होगी और जल्द ही प्रदेश की ऑल वेदर रोड के जरिये 365 दिन 24 घंटे प्रदेश में आवाजाही सुगम होगी।

सीएम की पीठ थपथपाई
शाह ने एक बार फिर राज्य की त्रिवेंद्र सरकार की पीठ थपथपाई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को वे साधुवाद देते हैं कि इतने कम समय में उन्होंने राज्य के भ्रष्टाचार को उखाड़ फेंका।
बजट पर विपक्ष की चेहरे का नूर गया
शाह ने कहा कि शुक्रवार को जब सदन में अंतरिम बजट पेश किया जा रहा था, विपक्ष के चेहरे से नूर गायब था। उन्होंने सवाल किया कि क्या विपक्ष केवल केंद्र में सत्ता चाहता है, देश के गरीब और किसान के लिए अच्छी घोषणाओं पर क्या राजनीति से हट कर वे खुश भी नही हो सकते। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस बजट के अलग-अलग मायने निकाल रही है, लेकिन असलियत यह है कि कांग्रेस ने 11 राज्यों में किसानों की ऋण माफी की, इससे केवल तीन करोड़ किसानों को लाभ मिला और 57 करोड़ रुपये खर्च किए गए और यह योजना केवल एक बार के लिए थी, वहीं मोदी सरकार ने 12 करोड़ किसानों के लिए हर साल 75 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा ने 6000 रुपये का एक औसत निकाला है, जबकि उन्हें ये तक नहीं पता कि रबी में कौन सी फसल होती है और खरीफ में कौन सी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कभी किसानों की परेशानियों के बारे में नहीं सोचा, वरना ये ऋण लेने की नौबत नहीं आती। उन्होंने कहा कि आने वाले तीन सालों में किसानों की आय दोगुनी होगी और वे ऋण मुक्त होंगे।
सैन्य परिवारों में भरा जोश
शाह ने उत्तराखंड को वीरभूमि करार देते हुए कहा कि वे वीरभूमि पर खड़े हैं। देश जानता है कि जब तक उत्तराखंड है देश की सीमाएं सुरक्षित हैं। राज्य में ऐसा कोई परिवार नहीं होगा, जिससे सेना में कोई जवान न हो। ऐसी कोई जिला या तहसील नहीं होगी, जहां से जवानों ने देश के लिए शहादत न दी है। शाह ने कहा कि 55 साल के शासन में कांग्रेस वन रैंक, वन पेंशन लागू नहीं कर पाई। भाजपा ने एक साल में ही इसे लागू कर सेना के प्रति अपनी जिम्मेदारी बताई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में वन रैंक, वन पेंशन का मतलब राहुल और प्रियंका का हित है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार मोदी सरकार ने तीन लाख करोड़ का रक्षा बजट जारी किया है। इससे सेना आधुनिक हथियारों के साथ ही अत्याधुनिक संचार व्यवस्था से लैस होगी। शाह ने कहा कि राहुल बाबा इतिहास उठाकर देखें की कांग्रेस के सत्ताकाल में सेना केवल पीछे गई, जबकि पांच साल में सेना को मोदी सरकार ने मजबूत किया।
बजट को बताया ऐतिहासिक
शाह ने अतंरिम बजट को ऐतिहासिक करार देते हुए कहा कि यह किसानों से लेकर मध्यम वर्ग तक के लिए बजट में प्रावधान किए गए। पांच लाख तक की आय को करमुक्त किया गया। इससे कर्मचारी और मध्यम वर्ग को बड़ी राहत मिली है।
लोगों का हक चट कर जाते थे कांग्रेस के चूहे
शाह ने कहा कि पूर्व में एक प्रधानमंत्री ने कहा था कि केंद्र से आने वाली एक रुपये की राशि में से 15 पैसे ही असल हकदार तक पहुंचते हैं। इसमें से 85 पैसे कांग्रेस के चूहे चट कर जाते थे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने एक लाख करोड़ के इस भ्रष्चाचार को खत्म किया। अब ये रकम पूरी की पूरी सीधे लाभार्थी के खाते में पहुंचती है।
गठबंधन पर कसा तंज
शाह ने लोकसभा चुनाव को लेकर बन रहे गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि इस गंठबंधन का न तो कई नेता है और न ही कोई नीति। उन्होंने कहा कि गठबंधन का एक ही मंत्र है कि मोदी हटाओ। उन्होंने कहा कि मोदी कहते हैं कि गरीबी हटाओ, गठबंधन कहता है मोदी हटाओ। मोदी जा कहते हैं बेरोजगारी हटाओ, गठबंधन कहता है मोदी हटाओ। मोदी कहते हैं कि बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ, गठबंधन कहता है मोदी हटाओ। मोदी कहते हैं विकास करो, गठबंधन कहता है मोदी हटाओ। उन्होंने कहा कि बिना नीति और बिना नेता का ये गठबंधन केवल एख शिगूफा है।
पांचों सीटों पर जीत का दिलाया संकल्प
अंत में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष में राज्य की पांचों सीटों पर जीत के लिए कार्यकर्ताओं को संकल्प दिलाया और वंदेमातरम और भारत माता की जय के साथ अपना संबोधन समाप्त किया। इस मौके पर चुनाव प्रभारी व केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलौत, राज्य प्रभारी श्याम जाजू, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, सांसद रमेश पोखरियाल निशंक व माला राज्य लक्ष्मी, पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, राष्ट्रीय मंत्री तीरथ सिंह रावत, केंद्रीय मंत्री अजय टम्टा, कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक समेत तमाम भाजपा नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।