होली में महंगा हो सकता है हवाई सफर

0
33

नई दिल्‍ली, हवाई सफर करने वालों के लिए सावधानी बरतने की जरूरत हैं, क्‍योंकि इस अवसर पर आपका सफर महंगा हो सकता है। दरअसल में इसकी वजह इथोपिया विमान हादसे के बाद स्पाइसजेट ने भी अपनी 14 फ्लाइट्स कैंसिल कर दी है।इससे होली के अवसर पर हवाई सफर महंगा होने की संभावना बढ़ गई है।

रंगों के त्‍योहार होली के अवसर पर अधिकांश लोग अपने घर जाना चाहते हैं। इसमें देश-विदेश में रहने वाले भारतीय लोग होते हैं जो इस मौके पर अपने-अपने घर जल्‍द और कम समय में पहुंचना चाहते हैं, लेकिन इस बार फ्लाइट्स महंगी हो सकती हैं।
देश में भी बोइंग 737 मैक्स विमानों के परिचालन पर रोक

इथोपिया विमान हादसे के बाद सतर्कता बरतते हुए भारत ने भी मंगलवार देर रात बोइंग 737 मैक्स विमानों के परिचालन पर रोक लगा दी है। डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी है कि बुधवार शाम 4 बजे तक बोइंग 737 मैक्स के सभी आठ विमान खड़े कर दिए जाएंगे। स्‍पाइसजेट ने भी अपनी 14 उड़ानें रद्द कर दी हैं। भारत ने बोइंग 737 मैक्स प्लेन के परिचालन पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। दरअसल यह देश की एविएशन इंडस्ट्री के लिए एक बड़ा झटका से कम नहीं है, क्योंकि इन विमानों में पहले से बुक हो चुकी टिकटों को अब विमानन कंपनियों को कैसल करना पड़ेगा या फिर उन्हें ऐसे यात्रियों के लिए कोई दूसरी व्यवस्था करनी पड़ेगी। इथोपिया, ब्रिटेन, सिंगापुर, चीन, फ्रांस, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, इंडोनेशिया और मलेशिया समेत 18 देशों ने बोइंग 737 मैक्स 8 की सेवा को अस्थायी रूप से प्रतिबंधित कर चुके हैं।

हवाई टिकटों के महंगे होने की मुख्‍य वजह 
बोइंग 737 मैक्स 8 का संकट ऐसे समय में खड़ा हुआ है जब जेट एयरवेज पहले ही वित्तीय संकट से जूझ रही है। उसे मजबूरन अपने 40 फीसदी से अधिक विमानों को खड़ा करना पड़ा है। होली के मौके पर जब एयरलाइन कंपनियां आकर्षक ऑफर देती देकर ज्यादा कमाई का बंदोबस्त करती हैं, तो अपने विमानों को खड़ा करने की वजह से मजबूरन हवाई सफर महंगा कर सकती हैं।

एयरलाइन कं‍पनियों के लिए संकट, कारोबार पर पड़ेगा असर 
बजट एयरलाइंस स्पाइसजेट के पास फिलहाल बोइंग 737 मैक्स के 13 एयरक्राफ्ट हैं, जबकि जेट एयरवेज (इंडिया) के बाड़े में ऐसे 5 विमान शामिल हैं। इन सभी को विमानन नियामक डीजीसीए के हालिया आदेश के बाद खड़ा करना पड़ेगा। जाहिर तौर पर ये समझा जा सकता है कि इतने सारे विमान एक साथ खड़े करने से कंपनियों के कारोबार पर चपत लगेगी।