बाहर की दवाईयाॅ लिखने पर होगी कार्यवाही

0
16

नैनीताल। जिलाधिकारी विनोद कुमार ने कहा कि रोगियों को अन्यत्र दवाईयाॅ लिखने वाले डाॅक्टरों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। इसलिए जन औषधि केन्द्र में उपलब्ध दवाईयों को ही चिकित्सक ही लिखे।

बुधवार को बीडी पाण्डेय चिकित्सालय महिला/पुरूष व जीबी पन्त चिकित्सालय की चिकित्सा प्रबन्धन समिति की बैठक जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन की अध्यक्षता में जिला कार्यालय में सम्पन्न हुई। इस दौरा डीएम ने कहा कि समिति का मुख्य उद्देश्य रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है। रोगियों को बाहर से दवाईयाॅ खरीदने की आवश्यकता न पड़े। उपभोगता शुल्क (उपभागता शुल्क) मद से रोगियों के इलाज के लिए जेनरिक दवाओं की पर्याप्त मात्रा में खरीदारी की जाये। रोगियों को यदि बाहर से दवाई लिखने की आवश्यकता है तो ऐसी दवाएं लिखी जाए जोकि जन औषधि केन्द्र में उपलब्ध हों। अन्यत्र दवाएं लिखने वाले डाॅक्टरों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि महिला चिकित्सालय में गर्भवती महिलाओं के लिए पर्याप्त मात्रा में दवाईयाॅ उपलब्ध होने के साथ ही सभी प्रकार के विटामिन्स व आयरन आदि की टेबलेट पर्याप्त मात्रा में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि महिला चिकित्सालय सहित अन्य चिकित्सालयों में भी पोषण युक्त भोजन की व्यवस्था की जाये तथा खाने की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए। समिति के सदस्यों एवं जन प्रतिनिधियों ने बीडी पाण्डेय चिकित्सालय के ड्रेनेज सिस्टम, सफाई आदि से सम्बन्धित समस्याएं रखी।

जिलाधिकारी ने समिति के सदस्यों व डाॅक्टरों के साथ शीघ्र ही मौका मुआयना करते हुए सभी सुविधाएं मुहैया कराने को कहा। जिलाधिकारी ने चिकित्सलय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की पूर्ति के लिए डीजी हैल्थ से पत्राचार करने के निर्देश दिये। समिति ने यूजर चार्जेज़ (उपभागता शुल्क) मद से अत्यावश्यक दवाईयाॅ खरीदने सहित विभिन्न कार्यो के लिए बीडी पांडेय महिला चिकित्सालय के लिए 8.80 लाख रूपये तथा बीडी पाण्डेय पुरूष चिकित्सालय के लिए 57 लाख रूपये व जीबी पन्त चिकित्सालय के लिए 15 रूपये के व्यय का अनुमोदन किया। बैठक में समिति के सचिव डाॅ. वीके पुनेरा, सदस्य मनोज जोशी, अरविन्द पडियार, कंचन भंडारी, निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण डाॅ. तारा आर्या, मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.भारती राणा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. रश्मि पन्त सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।